Big News: EPF will increase by 66%! Will retire as a millionaire, know the new rule of the government

29
0

नया वेतन संहिता: नए वेतन संहिता में कहा गया है कि कर्मचारी का मूल वेतन उसके सीटीसी के 50 प्रतिशत से कम नहीं होगा. इसका असर कर्मचारी के ईपीएफ (कर्मचारी भविष्य निधि) की राशि पर भी पड़ेगा।

नई दिल्ली: नया वेतन संहिता/भविष्य निधि: नए वेतनमान नियमों (द न्यू वेज कोड) की चर्चा इन दिनों तेज है। मीडिया रिपोर्ट्स में इस बारे में बहुत कुछ लिखा और कहा गया है, लेकिन अभी तक केंद्र सरकार की ओर से इस बारे में कोई औपचारिक घोषणा नहीं की गई है. हालांकि, सबसे बड़ी बात यह है कि जब भी नया वेज कोड लागू होगा तो निजी क्षेत्र में काम करने वालों के लिए यह बड़ी चिंता का विषय होगा (न्यू वेज कोड अपडेट)।

नए वेतन संहिता से राहत

नए वेतन संहिता में कहा गया है कि कर्मचारी का मूल वेतन उसके सीटीसी के 50 प्रतिशत से कम नहीं होगा। इसका असर कर्मचारी के ईपीएफ (कर्मचारी भविष्य निधि) की राशि पर भी पड़ेगा। कर्मचारी और कंपनी हर महीने मूल वेतन का 12-12 प्रतिशत पीएफ में योगदान करेंगे।

क्या कहता है EPFO ​​का नियम?

ईपीएफओ के नियमों के मुताबिक अगर आप पीएफ की पूरी रकम निकाल लेते हैं तो उस पर टैक्स नहीं लगता है। इसलिए नया वेतन संहिता लागू होने के बाद जब मूल वेतन 50 फीसदी से ऊपर हो और उस पर पीएफ अंशदान काटा जाए तो पीएफ फंड भी ज्यादा होगा। यानी जब कर्मचारी रिटायर होगा तो उसके पास पहले से ज्यादा पीएफ बैलेंस होगा। आइए इसकी गणना को एक उदाहरण से समझते हैं।

मान लीजिए आपकी उम्र 35 साल है और आपकी सैलरी 60,000 रुपये प्रति माह है। ऐसे में अगर आपकी 10 फीसदी की सालाना इंक्रीमेंट मान ली जाए तो रिटायरमेंट की उम्र तक मौजूदा पीएफ की ब्याज दर 8.5% यानी 25 साल बाद आपका टोटल पीएफ बैलेंस 1,16,23,849 रुपये हो जाएगा.

एक करोड़पति के रूप में सेवानिवृत्त

वहीं, इसके पीएफ बैलेंस की मौजूदा ईपीएफ योगदान से तुलना करने पर रिटायरमेंट के बाद पीएफ बैलेंस की राशि 69,74,309 रुपये होती है। यानी नए वेतन नियम से पीएफ बैलेंस पुराने फंड से कम से कम 66 फीसदी ज्यादा होगा. यानी अगर नया वेज कोड लागू होता है तो आप करोड़पति के तौर पर रिटायर हो जाएंगे।

ग्रेच्युटी भी बदलेगी

नए वेतन कोड के मुताबिक कर्मचारियों की ग्रेच्युटी में बदलाव होगा। ग्रेच्युटी की गणना अब बड़े आधार पर की जाएगी, जिसमें मूल वेतन के साथ-साथ अन्य भत्ते जैसे यात्रा, विशेष भत्ता आदि शामिल हैं। यह सब कंपनी के ग्रेच्युटी खाते में जोड़ा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here